Guest
Welcome, Guest

Login/Register

महत्त्वपूर्ण लिंक

हमसे सम्पर्क करें

Bookmark Bookmark

इवनिंग न्यूज़ डाइजेस्ट : 13 जुलाई 2018

विश्व ट्रैक इवेंट में गोल्ड जीतने वाली पहली भारतीय एथलीट बनीं हिमा दास

  • अंतरराष्ट्रीय एथलेटिक्स इवेंट की ट्रैक स्पर्धा में गोल्ड मेडल जीतने वाली हिमा दास पहली भारतीय बन गई हैं।
  • ये चैंपियनशिप फिनलैंड के टामपेरे में आयोजित की जा रही है।
  • हिमा ने प्रतियोगिता की 400 मीटर दौड़ को 51.46 सेकेंड्स में पूरा करते हुए पहला स्थान हासिल किया।
  • उनसे पहले आज तक कोई भी भारतीय एथलीट विश्व चैंपियनशिप में मेडल जीतने में सफल नहीं रहा है।
  • रोमानिया की एंड्रिया मिकलोस को सिल्वर और अमरीका की टेलर मैंसन को ब्रॉन्ज़ मेडल मिला।

टीसीए राघवन आईसीडब्ल्यूए के महानिदेशक नियुक्त किए गए

  • भारत के उपराष्ट्रपति और आईसीडब्ल्यूए के अध्यक्ष एम वेंकैया नायडू ने डॉ. टीसीए राघवन को आईसीडब्ल्यूए के महानिदेशक के रूप में नियुक्त किया है।
  • यह नियुक्ति भारतीय परिषद अधिनियम, 2001 की धारा 7 (2) (सी) और धारा 15 (1) के संदर्भ में की गई है।
  • राघवन ने इस्लामाबाद और सिंगापुर में भारत के उच्चायुक्त के रूप में कार्य किया है।
  • टीसीए राघवन एक पूर्व भारतीय राजनयिक हैं, जो भारतीय विदेश सेवा (Indian Foreign Service 'IFS') के 1982 बैच के अधिकारी थे।

          ICWA क्या है ?

  • भारतीय लागत लेखाकार संस्थान (Institute of Cost Accountants of India) भारत की प्रमुख लेखांकन संस्था है, जो लागत लेखा के व्यवसाय को आगे बढ़ाने, उसे नियंत्रित करने एवं विकसित करने का कार्य करती है।
  • भारत सरकार की संसद के अधिनियम के अंतर्गत स्थापित 'द इंस्टीटय़ूट ऑफ कॉस्ट एंड वर्क्स अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया' (आईसीडब्ल्यूए) का नाम 'द इंस्टीटय़ूट ऑफ कॉस्ट अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया' (आईसीएआई) कर दिया गया है।

एएसआई ने केंद्रीय संरक्षित स्मारकों के परिसर के भीतर फोटोग्राफी की अनुमति दी

  • भारतीय पुरातत्‍व सर्वेक्षण (Archaeological Survey of India) ने अजंता गुफा, लेह पैलेस और ताजमहल को छोड़कर केंद्र संरक्षित सभी स्मारकों और धरोहर स्थलों के अंदर फोटोग्राफी की अनुमति दे दी है।

          क्या है एएसआई ?

  • भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग, भारत सरकार के संस्कृति विभाग के अन्तर्गत एक सरकारी एजेंसी है, जो कि पुरातत्व अध्ययन और सांस्कृतिक स्मारकों के अनुरक्षण के लिये उत्तरदायी होती है।

पीयूष गोयल ने स्टेशन परिसरों के सौंदर्यीकरण के लिए पुरस्कार दिए

  • केन्द्रीय रेल तथा कोयला मंत्री पीयूष गोयल ने रेल भवन में स्टेशनों के सौंदर्यीकरण प्रतियोगिता में शामिल विजेता स्टेशनों को पुरस्कार प्रदान किया।
  • यह प्रतियोगिता दिसंबर, 2017 में क्षेत्रीय रेलों के बीच आयोजित की गई थी।
  • इसमें मध्य रेलवे के बलहारशाह तथा चन्द्रपुर रेलवे स्टेशनों को पहला पुरस्कार, जबकि पूर्व-मध्य रेलवे के मधुबनी स्टेशन तथा दक्षिण रेलवे के मुदुरई स्टेशन को संयुक्त रूप से दूसरा पुरस्कार मिला।
  • तीसरे पुरस्कार के संयुक्त विजेता रहे पश्चिम रेलवे का गांधीधाम स्टेशन, पश्चिम मध्य रेलवे का कोटा स्टेशन और दक्षिण-मध्य रेलवे का सिकंदराबाद स्टेशन।
  • प्रथम पुरस्कारः बलहारशाह तथा चन्द्रपुर रेलवे स्टेशन (मध्य रेलवे) - 10 लाख रुपये
  • द्वितीय पुरस्कारः मधुबनी रेलवे स्टेशन (पूर्व-मध्य रेलवे) तथा मदुरई रेलवे स्टेशन (दक्षिण रेलवे) – 5 लाख रुपये
  • तीसरा पुरस्कारः गांधीधाम रेलवे स्टेशन (पश्चिम रेलवे), कोटा रेलवे स्टेशन (पश्चिम-मध्य रेलवे) तथा सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन (दक्षिण-मध्य रेलवे) – 3 लाख रुपये
  • इस अवसर पर पीयूष गोयल ने ब्रिज मेनेजमेंट सिस्टम (आईआर-बीएमएस) लांच किया। यह वेब सक्षम आईटी एप्लीकेशन है, जिसमें ब्रिज मास्टर डाटा, वर्क डाटा, भारतीय रेल के पूलों का निरीक्षण/निगरानी तथा रख-रखाव कार्य से संबंधित डाटा का एकत्रीकरण, विशलेषण तथा प्रसार कार्य शामिल है।
  • ल मंत्री ने तीन तकनीकी पुस्तिकाओं- अल्ट्रा सोनिक परीक्षण पुस्तिका, एटी वेल्डिंग पुस्तिका तथा फ्लैश बट बिल्डिंग तकनीकी पुस्तिका का अनावरण भी किया।

आयुष्मान भारत में आधार वांछनीय है अनिवार्य नहीं

  • स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा आधार अधिनियम की धारा 7 के तहत आयुष्मान भारत- राष्ट्रीय स्वास्थ्य संरक्षण मिशन की जारी अधिसूचना के अनुसार क्रियान्वयन एजेंसियां लाभार्थी से सिर्फ उसकी पहचान के लिए आधार कार्ड के बारे में पूछ सकती हैं।
  • लाभार्थियों की सही-सही पहचान के उद्देश्य के लिए आधार कार्ड का इस्तेमाल श्रेयस्कर है लेकिन यह अनिवार्य नहीं है। आधार संख्या के अभाव में किसी को योजना का लाभ देने से मना नहीं किया जाएगा।
  • अधिसूचना के अनुसार यदि लाभार्थी के पास आधार संख्या नहीं हो तो पहचान की वैकल्पिक व्यवस्था के रूप में वह राशन कार्ड, मतदाता पहचान-पत्र, मनरेगा कार्ड इत्यादि (जैसा कि अधिसूचना में उल्लिखित है) को प्रस्तुत कर सकता है।
  • लाभार्थियों की पहचान के लिए आयुष्मान भारत- राष्ट्रीय स्वास्थ्य संरक्षण मिशन में साफ-साफ निर्देश दिया गया है कि लाभार्थी अपनी पहचान के लिए आधार संख्या या इसके अभाव में राज्य सरकारों द्वारा निश्चित किए गए अन्य वैध सरकारी पहचान कार्ड प्रस्तुत कर सकते हैं।

बीएडीपी की निगरानी के लिए 1100 करोड़ रुपये की मंजूरी

  • गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि सीमावर्ती इलाकों में रहने वाले लोग, सामरिकदृष्‍टि से काफी महत्‍वपूर्ण हैं और देश की बहुमूल्‍य सम्‍पत्ति की तरह हैं और सीमाओं की रक्षा में में उनकी अहम भूमिका है। उन्‍होंने कहा कि केन्‍द्र ने 17 राज्‍यों के अन्‍तर्राष्‍ट्रीयसीमा के पास स्थित गांवों के बहुमुखी विकास के लिए 2017-18 में 1100 करोड़ रुपये जारी किए हैं।
  • यह आवंटन 2015-16 में 990 करोड़ रुपये था।
  • बीएडीपी को 17 राज्यों अरुणाचल प्रदेश, असम, बिहार, गुजरात, हिमाचल प्रदेश, जम्मू एवं कश्मीर, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड, पंजाब, राजस्थान, सिक्किम, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और पश्चिम बंगाल में लागू किया गया था।
  • बीएडीपी के अंतर्गत सीमा से सटे 17 राज्यों के 111 जिले आते हैं। इसके तहत अंतर्राष्ट्रीय सीमा के 50 किलोमीटर के दायरे में रहने वाले लोगों के विशेष विकास जरूरतों को पूरा किया जाता है।

          बीएडीपी की शुरुआत

  • बीएडीपी की शुरुआत 1986-87 में की गयी थी। इसका शुरूआती उद्देश्य पाकिस्तान की सीमा से लगे क्षेत्रों जैसे जम्मू एवं कश्मीर , गुजरात, राजस्थान में विशेष विकास को पूरा करना था।
  • धीरे-धीरे 17 ऐसे राज्यों को इस मिशन में शामिल कर लिया गया, जोकि अंतर्राष्ट्रीय सीमा से लगे हुए हैं।

आध्यात्मिक नेता दादा जे.पी. वासवानी का निधन

  • सिंधी समुदाय के आध्यात्मिक नेता दादा जे. पी. वासवानी का 12 जुलाई 2018 को 99 वर्ष की आयु में पुणे में निधन हो गया।

          जे.पी. वासवानी के बारे में

  • 2 अगस्त 1918 को हैदराबाद में जन्मे दादा वासवानी शाकाहार और पशु अधिकारों के प्रचार के क्षेत्र में काम कर रहे थे।
  • वह अपने गुरु, साधु टीएल वासवानी द्वारा स्थापित साधु वासवानी मिशन में आध्यात्मिक प्रमुख भी रह चुके थे।
  • दादा वासवानी ने 150 से अधिक किताबें लिखी हैं।
  • वासवानी ने 'मोमेंट ऑफ काम' (The Moment of Calm) शुरू किया था। यह एक वैश्विक शांति पहल है। दुनियाभर में, लोग 2 अगस्त (उनके जन्मदिन पर) को दो मिनट का मौन रखते हैं। इस मौन के दौरान लोग अपनी जिंदगी में सभी लोगों को माफ करते हैं।

निषेध और उत्पाद शुल्क अधिनियम 2016 में संशोधन को मंजूरी

  • बिहार सरकार ने निषेध और उत्पाद शुल्क अधिनियम 2016 के कड़े प्रावधानों में संशोधन को मंजूरी दे दी है।
  • मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में कैबिनेट की एक बैठक में शराब की वसूली के मामले में घर, जमीन और वाहन सहित संपत्ति जब्त करने के लिए कठोर प्रावधानों को खत्म करने की मंजूरी दे दी है।
  • कैबिनेट की मंजूरी के बाद, बिहार प्रोहिबिशन एंड एक्साइज एक्ट (संशोधन) बिल राज्य विधायिका के आगामी सत्र में पेश किया जाएगा।

स्वात घाटी में फिर बनी बुद्ध की प्रतिमा

  • पाकिस्तान की स्वात घाटी के जहानाबाद इलाके में 7वीं शताब्दी में ग्रेनाइट पर्वत पर उकेरी गई, कमल आसन की मुद्रा में बुद्ध की प्रतिमा थी।
  • इस प्रतिमा को 2007 में तालिबानियों ने अफगानिस्तान के बामियान बुद्ध की तर्ज पर डायनामाइट से उड़ा दिया गया था।
  • बुद्ध की प्रतिमा लगभग 1400 साल पुरानी है। 2007 में तालिबान ने इसे डायनामाइट से उड़ाने की कोशिश की थी, जिससे प्रतिमा को काफी नुकसान हुआ था।
  • यह प्रतिमा लगभग 20 फीट ऊंची है। दस साल पहले चरमपंथियों के इसके ऊपर चढ़ कर विस्फोटक सामग्री लगाई, लेकिन इससे बुद्ध के चेहरे के ऊपरी हिस्से को ही नुकसान हुआ जबकि इसके पास एक अन्य मूर्ति के टुकड़े टुकड़े हो गए थे।
  • 2012 में इसे दोबारा से ठीक करने का कार्य शुरू किया गया और इस काम को कई चरणों में पूरा किया गया।
  • पुरानी तस्वीरों और थ्रीडी तकनीक की मदद से इस काम को अंजाम दिया गया।
  • इटली के पुरातत्व विशेषज्ञ कहते हैं कि यह प्रतिमा बिल्कुल पहले जैसी तो नहीं दिखती, लेकिन ऐसा जानबूझ कर किया गया है, ताकि पता चले कि इसे कभी नुकसान पहुंचाने की कोशिश की गई थी।
  • इटली की सरकार ने स्वात घाटी की सांस्कृतिक विरासत को बचाने के लिए पांच साल के भीतर 25 लाख यूरो का निवेश किया।

मैक्सिकन वैज्ञानिकों ने कैंसर से लड़ने के लिए हाइब्रिड चायोट फल 

  • लीड वैज्ञानिक एडेलिमोरो सैंटियागो ओसोरियो ने कहा कि इस फल का कच्चा हिस्सा निकालना साइटरबाइन के रूप में प्रभावी है, जो कि किसी प्रकार के कैंसर के इलाज के लिए उपयोग की जाने वाली दवा की तरह है।
  • शोधकर्ता ने कहा कि साइटरबाइन डीएनए में हस्तक्षेप करके काम करता है और घातक कोशिकाओं के विकास को सीमित करता है।
  • शोधकर्ताओं के अनुसार प्रयोगशाला में बनाए गए संकर का कच्चा हिस्सा नियमित चायोट फलों की तुलना में 1,000 गुना मजबूत है।
  • विश्व स्वास्थ्य संगठन के आंकड़ों के मुताबिक, कैंसर दुनिया में मौत का दूसरा कारण है, जिसमें सालाना लगभग 9 मिलियन लोग मारे जाते हैं।
  • मेक्सिको में, जहां कैंसर मौत का तीसरा कारण है, 2013 में 19,925 नए मामलों की सूचना मिली थी, उसी वर्ष 84,172 लोग मारे गए थे।

 

You might be interested:

बैंकिंग डाइजेस्ट : 14 जुलाई 2018

राष्ट्रीय _______ ने तीन केंद्रीय संरक्षित स्मारकों के परिसर को छोड़कर अन्य कें ...

एक साल पहले

वन लाइनर्स ऑफ़ द डे : 14 जुलाई 2018

राष्ट्रीय _______ ने तीन केंद्रीय संरक्षित स्मारकों के परिसर को छोड़कर अन्य कें ...

एक साल पहले

Vocab Express (शब्दावली एक्सप्रेस)- 507

Vocab Express (शब्दावली एक्सप्रेस)- 507 प्रिय उम्मीदवार, आपकी शब्दावली को बढ़ाने ...

एक साल पहले

राष्ट्रीय डिजिटल संचार नीति 2018

राष्ट्रीय डिजिटल संचार नीति 2018 दूरसंचार आयोग ने मंत्रालय की तरफ से जारी राष ...

एक साल पहले

बैंकिंग डाइजेस्ट : 13 जुलाई 2018

राष्ट्रीय केंद्रीय गृह मंत्री ने पुलिस सेवा में पेशेवर रुख तथा उत्कृष्टता ...

एक साल पहले

वन लाइनर्स ऑफ़ द डे : 13 जुलाई 2018

राष्ट्रीय केंद्रीय गृह मंत्री ने पुलिस सेवा में पेशेवर रुख तथा उत्कृष्टता ...

एक साल पहले

Provide your feedback on this article: