Guest
Welcome, Guest

Login/Register

महत्त्वपूर्ण लिंक

हमसे सम्पर्क करें

Bookmark Bookmark

इवनिंग न्यूज़ डाइजेस्ट : 14 नवम्बर 2018

भारत-रूस संयुक्‍त अभ्‍यास इंद्र-2018

  • संयुक्‍त राष्‍ट्र के तत्‍वावधान में उग्रवाद से निपटने के लिए भारत और रूस के बीच संयुक्‍त सैन्‍य अभ्‍यास ''इंद्र-2018'' बबीना छावनी स्‍थित बबीना फील्‍ड फायरिंग रेंज में 18 नवंबर, 2018 को शुरू होगा।
  • इस अभ्‍यास में रूसी संघ की पांचवी बटालियन और भारत की इंफैंट्री बटालियन हिस्‍सा लेगी। यह अभ्‍यास 11 दिनों तक चलेगा।

          उद्देश्य

  • इस सैन्‍य अभ्‍यास का उद्देश्य दोनों देशों की फौजों की क्षमता बढ़ाना है, ताकि शांति स्‍थापना और संयुक्‍त रणनीतिक के क्षेत्र में सहयोग बढ़ सके।
  • सैन्‍य अभ्‍यास का विषय दोनों देशों के लिए महत्‍वपूर्ण समकालीन सैन्‍य एवं सुरक्षा मुद्दे हैं।

बीजिंग में दूसरा स्टार्टअप इंडिया निवेश संगोष्ठी

  • चीन में स्‍थित भारतीय दूतावास, स्‍टार्ट-अप इंडिया संघ (एसआईए) और वेंचर गुरुकुल के सहयोग से पेईचिङ में 12 नवंबर, 2018 को दूसरी स्‍टार्ट-अप इंडिया निवेश बैठक (मीटिंग) का आयोजन किया गया।
  • इसका उद्देश्‍य भारतीय युवाओं में नवाचार और उद्यमशीलता (Innovation and entrepreneurship) को प्रोत्‍साहन देना है।
  • बता दें, पहला स्‍टार्ट-अप इंडिया निवेश कार्यक्रम नवंबर, 2017 में आयोजित किया गया था।
  • आयोजन के तहत चीन की उद्यम पूंजी और निवेशकों को भारत के स्‍टार्ट-अप से परिचित कराने का लक्ष्‍य निर्धारित किया जाता है, ताकि भारतीय स्‍टार्ट-अप को अपनी कंपनियों के लिए चीन के निवेशकों तक पहुंचने का अवसर मिले।

आरसीईपी की सातवीं अंतर-सत्र मंत्रिस्‍तरीय बैठक सिंगापुर में संपन्‍न

  • 12-13 नवंबर, 2018 को सिंगापुर में आरसीईपी (क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक साझेदारी) की सातवीं अंतर-सत्र मंत्रिस्‍तरीय बैठक (Inter-Sessional Ministerial Meeting) का आयोजन किया गया था।
  • इस बैठक में केन्‍द्रीय वाणिज्‍य एवं उद्योग और नागरिक उड्डयन मंत्री सुरेश प्रभु ने भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्‍व किया।
  • सिंगापुर के व्‍यापार एवं उद्योग मंत्री चान चुन सिंग ने इस बैठक की अध्‍यक्षता की।

          आरसीईपी क्या है?

  • क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक साझेदारी (आरसीईपी) एक मेगा या व्‍यापक क्षेत्रीय मुक्‍त व्‍यापार समझौता है जिसके लिए 16 देशों के बीच वार्ताएं जारी हैं।
  • इन 16 देशों में आसियान के 10 देश (ब्रुनेई, कंबोडिया, इंडोनेशिया, लाओस, मलेशिया, म्यांमार, फिलीपींस, सिंगापुर, थाईलैंड एवं वियतनाम) और आसियान एफटीए (मुक्‍त व्‍यापार समझौता) के छह साझेदार देश ऑस्‍ट्रेलिया, चीन, भारत, जापान, कोरिया और न्‍यूजीलैंड शामिल हैं।
  • बता दें, अब तक छह मंत्रिस्‍तरीय बैठकें, सात अंतर-सत्रात्‍मक मंत्रिस्‍तरीय बैठकें और तकनीकी स्‍तर पर व्‍यापार वार्ता समिति के 24 दौर आयोजित किए जा चुके हैं।

केंद्र ने मणिपुर के आठ चरमपंथी समूहों पर 5 साल तक प्रतिबंध बढ़ाया

  • केंद्र सरकार ने मणिपुर के आठ उग्रवादी समूहों के गैरकानूनी और हिंसक गतिविधियों में शामिल बने रहने के लिए उन पर लगे प्रतिबंध को पांच साल के लिए बढ़ा दिया है।
  • गृह मंत्रालय ने 13 नवंबर को यह जानकारी दी। गृह मंत्रालय ने कहा कि इन समूहों ने भारत से अलग होकर एक अलग मणिपुर राज्य बनाने के अपने मकसद को खुलकर व्यक्त किया है, उन्होंने अपने मकसद को हासिल करने के लिए सशस्त्र तरीके अपनाये हैं और सुरक्षा बलों, पुलिस तथा सरकारी कर्मचारियों पर हमले किये हैं।
  • गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि इन संगठनों पर पांच साल से लगे प्रतिबंध की सीमा हाल ही में समाप्त हो गयी थी और इसलिए पांच और साल के लिए इन्हें प्रतिबंधित घोषित करना जरूरी हो गया था।

इसरो : श्रीहरिकोटा में संचार उपग्रह जीसैट-29 का प्रक्षेपण

  • भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन - इसरो 14 नवंबर की शाम श्रीहरिकोटा में सतीश धवन अंतरिक्ष केन्‍द्र से संचार उपग्रह जीसैट-29 का प्रक्षेपण करेगा।
  • शाम पांच बजकर आठ मिनट पर प्रक्षेपण के बाद इसरो का अब तक का सबसे भारी प्रक्षेपण यान जी.एस.एल.वी. मार्क-III इस संचार उपग्रह को भू-स्‍थैतिक कक्षा में पहुंचा देगा।
  • जी-सैट 29 उपग्रह के सफल प्रक्षेपण के बाद डाटा हस्‍तांतरण की गति बढ़ेगी।

          जीसैट-29

  • जीसैट-29 उपग्रह में के.ए. और के.यू. बैण्‍ड में उच्‍च शक्ति के संचार ट्रांसपोंडर लगे हुए हैं।
  • यह उपग्रह दस वर्ष से अधिक समय तक काम करेगा।
  • बता दें, पांचवीं पीढ़ी का प्रक्षेपण यान ''जीएसएलवी मार्क थ्री'' को बहुत महत्‍वपूर्ण माना जा रहा है क्‍योंकि इसके सफल प्रक्षेपण के साथ ही राष्‍ट्रीय अंतरिक्ष एजेंसी चार टन तक के भारी प्रक्षेपणों के लिए तैयार हो जाएगी।
  • इसकी सफलता से अगले साल के महत्‍वपूर्ण मिशन चन्‍द्रयान-टू के लिए भी सहायता मिल सकेगी।

75 रुपये का स्मारक सिक्का जारी

  • सरकार ने 13 नवंबर को घोषणा की कि वह नेताजी सुभाष चंद्र बोस द्वारा पहली बार पोर्ट ब्लेयर में तिरंगा फहराने की 75वीं वर्षगांठ के मौके पर 75 रुपये का स्मारक सिक्का जारी करेगी।
  • 35 ग्राम के इस सिक्के में 50 प्रतिशत चांदी, 40 प्रतिशत तांबा तथा निकल और जस्ता पांच-पांच प्रतिशत होंगे।
  • इस सिक्के में 'नेताजी सुभाषचंद्र बोस' की तस्वीर, सेलुलर जेल की पृष्ठभूमि में ध्वज को सलाम करते हुए दिखेगी।
  • चित्र के नीचे "वर्षगांठ’’ के साथ 75 का अंक छपा होगा।
  • विदित हो, कि 30 दिसंबर, 1943 को, सुभाष चंद्र बोस ने पहली बार सेलुलर जेल, पोर्ट ब्लेयर में तिरेगा फहराया था।

अमेरिकी कॉमिक बुक लेखक स्टेन ली का निधन

  • स्पाइडर मैन, हल्क, एक्समैन, डेयरडेविल्स, फैन्टास्टिक फोर, आयरन मैन, थोर, डॉक्टर स्ट्रेंज और कैप्टन अमेरिका जैसे कई सुपरहीरोज की रचना करने वाले
  • स्टेन ली का निधन हो गया।
  • स्टेन ली पूरा नाम स्टेन ली मार्टिन लाइबर था।
  • स्टेन ली स्टेन ली एक उम्दा अभिनेता होने के साथ-साथ बेहतरीन लेखक, निर्माता, प्रकाशक और संपादक भी थे। स्टेन ली को मुख्य तौर पर इनके सुपरहीरोज के लिए जाना जाता है।
  • इन फिल्मों ने बॉक्स ऑफिस पर प्रसिद्धि के कई रिकॉर्ड बनाएं। इनकी लगभग सभी फिल्में सुपरहिट रहीं हैं। फिल्मों के अलावा स्टेन ली ने कई पुस्तकें और उपन्यास भी लिखे।
  • उन्होंने वर्ष 1961 में दि फैंटास्टिक फोर के साथ प्रसिद्ध मार्वल कॉमिक्स की शुरुआत की थी। यहीं से 'स्पाइडर मैन', 'एक्स मैन', 'हल्क', 'आयरन मैन', 'ब्लैक पैंथर', 'थोर', 'डॉक्टर स्ट्रेंज' और 'कैप्टन अमेरिका' जैसे किरदारों का जन्म हुआ।

हिंद महासागर नौसेना संगोष्ठी की 10वीं वर्षगांठ आयोजित की गई

  • हिंद महासागर नौसेना संगोष्ठी-2018 की 10वीं वर्षगांठ 13 और 14 नवंबर 2018 को कोच्चि में मनाई गई।

          हिंद महासागर नौसेना संगोष्ठी (IONS)

  • हिंद महासागर नौसेना संगोष्ठी एक समावेशी और स्वैच्छिक पहल है, जो समुद्री सहयोग बढ़ाने और क्षेत्रीय सुरक्षा में वृद्धि के उद्देश्य से हिंद महासागर क्षेत्र के तटीय राज्यों की नौसेना को एक साथ लाती है।
  • यह चर्चा, नीति निर्माण के साथ-साथ नौसेना के संचालन के कई पहलुओं के लिए एक मंच है, जो सभी सहयोगी तंत्र के महत्वपूर्ण तत्व हैं।

          इतिहास

  • आईओएनएस का उद्घाटन 14 फरवरी 2008 को नई दिल्ली में नौसेना के तत्कालीन नौसेनाध्यक्ष के साथ 2008 से 2010 की अवधि के लिए मंच के अध्यक्ष के रूप में आयोजित किया गया था।
  • तब से, आईओएनएस की अध्यक्षता संयुक्त अरब अमीरात, दक्षिण अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया, बांग्लादेश और ईरान की नौसेनाओं द्वारा तय की गई है।
  • आज, आईओएनएस के 24 सदस्य और 08 पर्यवेक्षक राष्ट्र हैं, जो भौगोलिक रूप से चार उप-क्षेत्रों, नामतः दक्षिण-एशियाई, पश्चिम एशियाई, पूर्वी अफ्रीकी, दक्षिण पूर्व एशियाई और ऑस्ट्रेलियाई  समुद्रतटवरती में समूहबद्ध हैं।

You might be interested:

इवनिंग न्यूज़ डाइजेस्ट : 15 नवम्बर 2018

राष्ट्रीय केंद्र सरकार ने इस राज्य के आठ उग्रवादी समूहों के गैरकानूनी और हि ...

9 महीने पहले

बैंकिंग डाइजेस्ट : 15 नवम्बर 2018

राष्ट्रीय केंद्र सरकार ने इस राज्य के आठ उग्रवादी समूहों के गैरकानूनी और हि ...

9 महीने पहले

बाल दिवस मनाइए TyariPLUS के साथ: जानिये चाचा नेहरु से जुड़ी 10 मुख्य बातें

बाल दिवस मनाइए TyariPLUS के साथ: जानिये चाचा नेहरु से जुड़ी 10 मुख्य बातें: भारत में हर ...

9 महीने पहले

Vocab Express (शब्दावली एक्सप्रेस)- 594

Vocab Express (शब्दावली एक्सप्रेस)- 594 प्रिय उम्मीदवार, आपकी शब्दावली को बढ़ाने ...

9 महीने पहले

इवनिंग न्यूज़ डाइजेस्ट : 13 नवम्बर 2018

भारत और इंडोनेशिया नौसेना में द्विपक्षीय अभ्यास आईएनएस राणा 12 नवंबर से 18 नव ...

9 महीने पहले

Vocab Express (शब्दावली एक्सप्रेस)- 593

Vocab Express (शब्दावली एक्सप्रेस)- 593 प्रिय उम्मीदवार, आपकी शब्दावली को बढ़ाने ...

9 महीने पहले

Provide your feedback on this article: