Guest
Welcome, Guest

Login/Register

महत्त्वपूर्ण लिंक

हमसे सम्पर्क करें

Bookmark Bookmark

कार्बन डाई ऑक्साइड का चौथा सबसे बड़ा उत्सर्जक है भारत

कार्बन डाई ऑक्साइड का चौथा सबसे बड़ा उत्सर्जक है भारत

एक अध्ययन में यह बात सामने आई है कि कार्बन डाई ऑक्साइड गैस उत्सर्जन के मामले में भारत दुनिया में चौथे पायदान पर है।
इसमें कहा गया है कि कार्बन डाई ऑक्साइड गैस उत्सर्जन के मामले में भारत की वैश्विक भागीदारी सात प्रतिशत है।
इस सूची में चीन 27 फीसदी हिस्सेदारी के साथ अव्वल बना हुआ है। अमेरिका 15 फीसदी के साथ दूसरे, यूरोपीय संघ 10 फीसदी के साथ तीसरे स्थान पर है। उत्सर्जन में शेष विश्व का पिछले साल कुल योगदान 41 प्रतिशत रहा था। यह आकलन ‘ग्लोबल कार्बन प्रोजेक्ट’ में किया गया है।
भारत के बाद इस सूची में क्रमश: रूस, जापान, जर्मनी, ईरान, सऊदी अरब और दक्षिण कोरिया को रखा गया है।
अध्ययन में कहा गया है कि भारत में साल 2018 में उत्सर्जन में 6.3 प्रतिशत तक की वृद्धि हो सकती है।
भारत की ऊर्जा आवश्यकता को पूरा करने में कोयला अभी भी मुख्य भूमिका निभा रहा है और ऊर्जा की बढ़ती जरूरतों को देखते हुए यह कहना मुश्किल है कि धूप या हवा से बिजली बनाने का काम इसकी जगह ले सकता है।

You might be interested:

युवाओं के लिए राष्ट्रीय चुनौती- "भारत के लिए संकल्प- प्रौद्योगिकी का उपयोग कर रचनात्मक समाधान"

युवाओं के लिए राष्ट्रीय चुनौती- "भारत के लिए संकल्प- प्रौद्योगिकी का उपयोग क ...

7 महीने पहले

9 जनवरी, 2019 से पुणे में खेलो इंडिया युवा खेलों का आयोजन किया जाएगा

9 जनवरी, 2019 से पुणे में खेलो इंडिया युवा खेलों का आयोजन किया जाएगा 'खेलो इंडिया ...

7 महीने पहले

मोहाली में सतत जल प्रबंधन पर पहला अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन

मोहाली में सतत जल प्रबंधन पर पहला अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन भाखड़ा ब्यास प्रबं ...

7 महीने पहले

स्टार्टअप सूचीबद्धता नियमों में छूट देगी सेबी

स्टार्टअप सूचीबद्धता नियमों में छूट देगी सेबी स्टार्टअप कंपनियों को शेयर ब ...

7 महीने पहले

रणजी ट्रॉफी : अजय रोहेरा ने रचा इतिहास

रणजी ट्रॉफी : अजय रोहेरा ने रचा इतिहास मध्य प्रदेश और हैदराबाद के बीच इंदौर क ...

7 महीने पहले

आमतौर पर दवाओं के रूप में इस्तेमाल किए जाने वाले चिकित्सा उपकरणों को किया गया सूचित

आमतौर पर दवाओं के रूप में इस्तेमाल किए जाने वाले चिकित्सा उपकरणों को किया गय ...

7 महीने पहले

Provide your feedback on this article: