Bookmark Bookmark

काशी महाकाल एक्सप्रेस

काशी महाकाल एक्सप्रेस

काशी महाकाल एक्सप्रेस की एक सीट जो दो राज्यों में 3 ज्योतिर्लिंगों को जोड़ती है, को भगवान शिव को समर्पित एक छोटे मंदिर में बदल दिया गया है।

मुख्य बिन्दु:

  • रेलवे अधिकारियों के अनुसार भगवान शिव के लिए ट्रेन में कोच B 5 की सीट संख्या 64 को सुरक्षित रखने का प्रयास किया जाएगा।
  • काशी महाकाल एक्सप्रेस ओंकारेश्वर (इंदौर), महाकालेश्वर (उज्जैन) और काशी विश्वनाथ (वाराणसी) ज्योतिर्लिंगों को जोड़ती है।
  • इस ट्रेन को पीएम नरेंद्र मोदी ने 16 फरवरी को वाराणसी जंक्शन से हरी झंडी दिखाई थी और 20 फरवरी से नियमित रूप से चलाया जाएगा।

You might be interested:

भारत में शहरी उष्मीय द्वीप

भारत में शहरी उष्मीय द्वीप आईआईटी खड़गपुर का हालिया अध्ययन- “मानवीय हस्तक ...

एक महीने पहले

दक्षिण भारत का पहला मुद्रा संग्रहालय

दक्षिण भारत का पहला मुद्रा संग्रहालय यह देश का पहला मुद्रा संग्रहालय है। भा ...

एक महीने पहले

वन लाइनर्स ऑफ द डे, 18 फरवरी 2020

अर्थव्यवस्था राष्ट्रीय उत्पादकता परिषद (NPC) द्वारा आयोजित अध्ययन के अनुसार, ...

एक महीने पहले

वन लाइनर्स ऑफ द डे, 17 फरवरी 2020

महत्वपूर्ण दिन विश्व पैंगोलिन दिवस (15 फरवरी 2020) - फरवरी महीने का तीसरा शनिवार ...

एक महीने पहले

दैनिक समाचार डाइजेस्ट:16 February 2020

राजीव बंसल को एयर इंडिया का नया अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक नियुक्त किया गया है ...

एक महीने पहले

जम्मू और कश्मीर में पहली बार आयोजित होने वाला "वैश्विक निवेशक शिखर सम्मेलन"

जम्मू और कश्मीर में पहली बार आयोजित होने वाला "वैश्विक निवेशक शिखर सम्मेलन" ...

एक महीने पहले

Provide your feedback on this article: