Bookmark Bookmark

लाचित दिवस क्या है?

लाचित दिवस क्या है?

प्रसंग

लाचित बरफूकन की जयंती  के उपलक्ष्य में प्रति वर्ष 24 नवंबर को लाचित दिवस मनाया जाता है वह एक अदभुत नेता और रणनीतिकार थे, जिन्‍होंने असम की अनूठी संस्‍कृति के संरक्षण में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाई।

लाचित बरफूकन के बारे में:-

  • वे असम के पहले बोरबरुआ के मोमाई तमुली बोरबरुआ के पुत्र थे।
  • वे वर्तमान असम में स्थित अहोम साम्राज्य (प्रताप सिंहा के अधीन) में एक सेनापति और बरफूकन थे।
  • उन्हें 1671 में सरायघाट की लड़ाई में उनके नेतृत्व के लिए मनाया जाता है।
  • यह युद्ध मुग़ल सेनाओं के साथ रामसिंह प्रथम के शासन में अहोम साम्राज्य पर अधिकार करने के लिए लड़ा गया था।

सरायघाट की लड़ाई:-

  • लाचित और उनकी सेनाओं द्वारा पराजित होने के बाद, मुगल सेना असम से गुवाहाटी के लिए आगे बढ़ी।
  • मुगल सेना राम सिंह प्रथम के अधीन थी।
  • मुगल सेना अहोम शिविर में पहुंची और युद्ध के अंतिम चरण के दौरान सरायघाट में नदी पर हमला किया गया।
  • लाचित बरफूकन विजयी रहा और मुगलों को गुवाहाटी से पीछे हटने के लिए मजबूर होना पड़ा।

You might be interested:

विश्लेषण: ‘ट्रांसजेंडर लोगों के लिए नेशनल पोर्टल’

विश्लेषण: ‘ट्रांसजेंडर लोगों के लिए नेशनल पोर्टल’ प्रसंग केंद्रीय सामा ...

2 महीने पहले

25 नवंबर: महिलाओं के विरुद्ध हिंसा समाप्ति के लिए अंतर्राष्ट्रीय दिवस

25 नवंबर: महिलाओं के विरुद्ध हिंसा समाप्ति के लिए अंतर्राष्ट्रीय दिवस प्रसंग ...

2 महीने पहले

ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का भूमि-हमला संस्करण

ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का भूमि-हमला संस्करण प्रसंग भारत ने 24 नवंबर ...

2 महीने पहले

वन लाइनर्स ऑफ द डे, 26 नवंबर 2020

महत्वपूर्ण दिन भारत में, संविधान दिवस या राष्ट्रीय विधि दिवस - 26 नवंबर अर्थव ...

2 महीने पहले

दैनिक समाचार डाइजेस्ट:24 November 2020

चीन का चांग ई-5 चंद्र मिशनचीन का चांग ई-5 चंद्र मिशन 24 नवंबर को चंद्रमा के पहले स ...

2 महीने पहले

वन लाइनर्स ऑफ द डे, 25 नवंबर 2020

महत्वपूर्ण दिन वर्ष 2020 के महिलाओं के खिलाफ हिंसा के उन्मूलन के लिए अंतरराष् ...

2 महीने पहले

Provide your feedback on this article: