Bookmark Bookmark

मैसेडोनियन संसद ने देश का नाम बदला

मैसेडोनियन संसद ने देश का नाम बदला

मैसेडोनिया की संसद ने 27 साल पुराने विवाद को ख़त्म करते हुए 11 जनवरी को संविधान में संशोधन कर देश का नाम 'रिपब्लिक ऑफ नॉर्थ मेसेडोनिया' कर दिया। बता दें संयुक्त राष्ट्र में इसे ''फॉर्मर यूगोस्लाव रिपब्लिक ऑफ मेसेडोनिया'' के नाम से जाना जाता था।

मैसेडोनिया की 120 सदस्यीय संसद में इस संसोधन को पारित करने के लिए 80 मतों की जरूरत थी, जबकि पक्ष में 81 मत पड़े।

यह था विवाद

वर्ष 1991 में यूगोस्लाविया से अलग होकर नया देश ''रिपब्लिक ऑफ मेसेडोनिया'' बना था। इसके दक्षिण में स्थित ग्रीस के कुछ हिस्सों को भी मेसेडोनिया के नाम से जाना जाता है। इस पर दोनों देशों के बीच विवाद शुरू हो गया था।

बता दें कि ग्रीस के उत्तरी क्षेत्र का नाम भी मेसेडोनिया है। सिकंदर महान इसी क्षेत्र का रहने वाला था। इसी वजह से ग्रीस के नागरिक इस नाम को लेकर नाराज थे। ग्रीस का कहना था कि उसके हिस्से में आने वाला मेसेडोनिया यूनानी संस्कृति का प्रमुख भाग है।

नाम को लेकर हुए समझौते में भी स्पष्ट किया गया है कि नॉर्थ मेसेडोनिया को पुरानी ग्रीक सभ्यता से संबंधित नहीं माना जाएगा।

You might be interested:

विराट कोहली और रवि शास्त्री को सिडनी क्रिकेट ग्राउंड की मानद सदस्यता प्राप्त हुई

विराट कोहली और रवि शास्त्री को सिडनी क्रिकेट ग्राउंड की मानद सदस्यता प्राप ...

2 साल पहले

अशोक चावला ने नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया

अशोक चावला ने नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया नेशनल स् ...

2 साल पहले

गगनयान परियोजना: इसरो ने मानव अंतरिक्ष उड़ान केंद्र स्थापित किया

गगनयान परियोजना: इसरो ने मानव अंतरिक्ष उड़ान केंद्र स्थापित किया भारतीय अं ...

2 साल पहले

पर्यटन मंत्रालय ने स्‍वदेश दर्शन और प्रसाद योजनाओं के तहत 190.46 करोड़ रुपये की चार और परियोजनाओं को मंजूरी दी

पर्यटन मंत्रालय ने स्‍वदेश दर्शन और प्रसाद योजनाओं के तहत 190.46 करोड़ रुपये क ...

2 साल पहले

भागीदारी शिखर सम्मेलन का 25वां संस्करण संपन्न

भागीदारी शिखर सम्मेलन का 25वां संस्करण संपन्न भारत में आर्थिक नीति और विकास ...

2 साल पहले

वन लाइनर्स ऑफ़ द डे : 13 जनवरी 2019

राष्ट्रीय भारत के इस शहर में 'बाल संरक्षण पर राष्ट्रीय परामर्श' आयोजित किया ...

2 साल पहले

Provide your feedback on this article: