Bookmark Bookmark

मुंबई में 2023 तक भारत की पहली जलमग्न सुरंग

मुंबई में 2023 तक भारत की पहली जलमग्न सुरंग

प्रसंग

मुंबई 2023 तक भारत की पहली जलमग्न सुरंग का घर होगा।

विवरण:

  • इसकी लंबाई 2.07 किमी होगी, जिसमें से 1 किलोमीटर का हिस्सा समुद्र के नीचे होगा।
  • यह एक 10.58 किलोमीटर लंबी सड़क परियोजना है जो मरीन ड्राइव से शुरू होती है और बांद्रा-वरदा सी लिंक के वर्ली-छोर पर समाप्त होती है।
  • यह भारत में पहली भूमिगत सड़क सुरंग है जो गिरगांव चौपाटी के पास अरब सागर से होकर गुजरेगी।
  • सुरंग को भारत की सबसे बड़ी सुरंग बोरिंग मशीन (टीबीएम) 'मालवा' का उपयोग करके बनाया जा रहा है। 17 वीं शताब्दी के मराठा राजा छत्रपति शिवाजी महाराज के सैनिकों को 'मावलस' कहा जाता था। मशीन, जिसे 30 लोगों की टीम द्वारा संचालित किया जाता है, का व्यास 12.19 मीटर है।
  • समुद्र तल से 20 मीटर नीचे, मुंबई की अधोर सुरंग का निर्माण अपेक्षाकृत उथली गहराई पर किया जा रहा है।
  • तुलनात्मक रूप से, अंग्रेजी चैनल टनल अपने सबसे गहरे बिंदु पर समुद्र तल से 75 मीटर नीचे है, जबकि जापान का सीकैन टनल समुद्र के तल से 100 मीटर नीचे स्थित है।
  • यह सुरंग प्रियदर्शनी पार्क से शुरू होगी और मरीन ड्राइव में नेताजी सुभाष रोड पर समाप्त होगी। यह सीबेड के नीचे 20 मीटर की गहराई पर बनाई जाएगी।

You might be interested:

भारत की अध्‍यक्षता में ब्रिक्‍स देशों की तीन दिवसीय शेरपा बैठक शुरू

भारत की अध्‍यक्षता में ब्रिक्‍स देशों की तीन दिवसीय शेरपा बैठक शुरू प्रसं ...

2 महीने पहले

विजय सांपला ने अनुसूचित जाति के लिए राष्ट्रीय आयोग (एनसीएससी) के अध्यक्ष (चेयरमैन) का पदभार ग्रहण किया

विजय सांपला ने अनुसूचित जाति के लिए राष्ट्रीय आयोग (एनसीएससी) के अध्यक्ष (चे ...

2 महीने पहले

“द स्टेट ऑफ स्कूल फीडिंग वर्ल्डवाइड” रिपोर्ट जारी की गई

“द स्टेट ऑफ स्कूल फीडिंग वर्ल्डवाइड” रिपोर्ट जारी की गई प्रसंग हाल ही मे ...

2 महीने पहले

दैनिक समाचार डाइजेस्ट:25 February 2021

केंद्रीय रोजगार गारंटी परिषद की 22 वीं बैठक आयोजित की गयीकेंद्रीय रोजगार गार ...

2 महीने पहले

वन लाइनर्स ऑफ द डे, 26 फरवरी 2021

रक्षा 24 फरवरी 2021 से नए फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग वेस्टर्न फ्लीट (FOCWF) - रियर एडमिरल अ ...

2 महीने पहले

अल्पाइन पौधे की एक नई प्रजाति अरुणाचल प्रदेश में खोजी गई हैं

अल्पाइन पौधे की एक नई प्रजाति अरुणाचल प्रदेश में खोजी गई हैं प्रसंग अरुणाचल ...

2 महीने पहले

Provide your feedback on this article: