Bookmark Bookmark

फिजी ने सबसे पहले डेवलपिंग कंट्री ग्रीन बांड जारी किये

फिजी ने सबसे पहले डेवलपिंग कंट्री ग्रीन बांड जारी किये:

फिजी सार्वभौमिक ग्रीन बांड जारी करने वाला विश्व का पहला उभरता हुआ बाजार बन गया है। इन बॉन्डस को जारी कर फिजी ने जलवायु परिवर्तन शमन और अनुकूलन का समर्थन करने के लिए, 100 मिलियन फिजियन डॉलर या 50 मिलियन अमेरिकी डॉलर प्राप्त किये।

प्रमुख तथ्य:

फिजी के रिज़र्व बैंक के अनुरोध पर, विश्व बैंक और इंटरनेशनल फाइनेंस कॉरपोरेशन (आईएफसी), जोकि निजी क्षेत्र पर ध्यान केंद्रित करने वाले विश्व बैंक समूह का एक सदस्य है, ने सार्वभौमिक ग्रीन बांड जारी करने में सरकार की सहायता के लिए तकनीकी सहायता प्रदान की।

यह सहयोग ऑस्ट्रेलियाई सरकार द्वारा समर्थित एक व्यापक, तीन-वर्षीय पूंजी बाजार विकास परियोजना के तहत हुआ। इस साझेदारी के माध्यम से, ऑस्ट्रेलिया और आईएफसी, निजी क्षेत्र के निवेश को प्रोत्साहित करने, सतत आर्थिक विकास को बढ़ावा देने और प्रशांत क्षेत्र में गरीबी को कम करने में मदद कर रही है।

लगभग 870,000 से अधिक की जनसंख्या वाले इस देश में 300 ज्वालामुखीय द्वीप हैं जिसमें निचले अटोल्स शामिल हैं जोकि चक्रवात और बाढ़ के लिए अतिसंवेदनशील हैं।

वर्ष 2016 में, उष्णकटिबंधीय चक्रवात विंस्टन- जोकि दर्ज रिकार्डों में दक्षिणी गोलार्ध का अब तक का सबसे गहन उष्णकटिबंधीय चक्रवात था, फिजी के सीधे ऊपर से गुजरा था। इसके कारण आर्थिक जो नुकसान हुआ, वह देश की जीडीपी का लगभग एक तिहाई था।

सभी प्रशांत महासागर में स्थित द्वीप देशों की तरह, फिजी भी जलवायु परिवर्तन के प्रभाव के लिए अतिसंवेदनशील है, जिसकी वजह से वर्ष 2050 तक जलवायु परिवर्तन के कारण क्षेत्र के 10 मिलियन लोगों में से करीब 20 प्रतिशत विस्थापित हो सकते हैं।

ग्रीन बांड (हरित बांड):

ये किसी भी अन्य बांड की ही भांति है जहां एक निकाय धन जुटाने के लिए निवेशकों के लिए ऋण साधन जारी करते हैं। ग्रीन बांड की पेशकश का लाभ 'हरित' परियोजनाओं के वित्त पोषण में उपयोग के लिए होता है और यही है जो इसे अन्य बांड से अलग करता है।

ग्रीन बांड में जारीकर्ता सार्वजनिक रूप से यह कहता है कि वह पर्यावरणीय लाभ जैसे अक्षय ऊर्जा, कम कार्बन परिवहन आदि जैसी 'हरित' परियोजनाओं, परिसंपत्तियों या व्यापारिक गतिविधियों के लिए पूंजी की उगाही कर रहा है। यह पहली बार विश्व बैंक और यूरोपीय निवेश बैंक के द्वारा पहली बार वर्ष 2007 में लाया गया था। भारत में सबसे पहले यस बैंक ने इसको जारी किया था।

Take a quiz on what you read Start Now

You might be interested:

आईआईटी के शोधकर्ताओं ने पौधों के अर्क (रस), ऊष्मा (उच्च ताप) का प्रयोग त्वचा कैंसर की कोशिकाओं को मारने के लिए किया

आईआईटी के शोधकर्ताओं ने पौधों के अर्क (रस), ऊष्मा (उच्च ताप) का प्रयोग त्वचा कैंसर की कोशिकाओं को ...

4 हफ्ते पहले

इवनिंग न्यूज़ डाइजेस्ट: 22 अक्टूबर 2017

प्रधानमंत्री मोदी ने घोघा और दाहेज के बीच 'रोल ऑन, रोल ऑफ (रो-रो)' नौका सेवा के पहले चरण का शुभारंभ ...

4 हफ्ते पहले

वन लाइनर्स ऑफ़ द डे: 22 अक्टूबर 2017

राष्ट्रीय राज्यसभा टीवी के एडिटर-इन-चीफ (आरएसटीवी) के पद के लिए उम्मीदवार का चयन करने के लिए इस स ...

4 हफ्ते पहले

बैंकिंग डाइजेस्ट: 22 अक्टूबर 2017

राष्ट्रीय राज्यसभा टीवी के एडिटर-इन-चीफ (आरएसटीवी) के पद के लिए उम्मीदवार का चयन करने के लिए इस स ...

4 हफ्ते पहले

विश्व की सबसे गहरी झील "बैकाल झील" प्यूट्रिड (दुर्गन्धित) शैवाल, प्रदूषण की वजह से संकट की स्थिति में पहुंची

विश्व की सबसे गहरी झील "बैकाल झील" प्यूट्रिड (दुर्गन्धित) शैवाल, प्रदूषण की वजह से संकट की स्थिति ...

एक महीने पहले

भारत में प्रदूषण की वजह से सबसे अधिक मौतें: लैंसेट रिपोर्ट

भारत में प्रदूषण की वजह से सबसे अधिक मौतें: लैंसेट रिपोर्ट साल 2015 में भारत में प्रदूषण जनित बीमा ...

एक महीने पहले

Provide your feedback on this article: