Bookmark Bookmark

प्लास्टिक कचरे को महासागरों में प्रवेश से रोकने के लिए भारत-जर्मनी ने किया समझौता

प्लास्टिक कचरे को महासागरों में प्रवेश से रोकने के लिए भारत-जर्मनी ने किया समझौता

प्रसंग

भारत सरकार (जीओआई) और जर्मनी ने ‘समुद्री पर्यावरण में प्रवेश कर रहे प्लास्टिक कचरे की समस्‍या का सामना कर रहे शहरों’ के बारे में एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं।

विवरण

  • 'प्‍लास्टिक जिससे शहर लड़ रहे हैं वह समुद्री पर्यावरण में प्रवेश कर रहा' शीर्षक नाम के प्रोजेक्ट को साढ़े तीन साल की अवधि के लिए लागू किया जाना है।
  • इस एमओयू के अनुसार, कार्यान्वित होने वाली परियोजना मुख्य रूप से स्थायी ठोस अपशिष्ट प्रबंधन पर केंद्रित है। यह भारत को 2022 तक सिंगल यूज़ प्लास्टिक को चरणबद्ध तरीके से समाप्त करने के लक्ष्य को प्राप्त करने में मदद करेगा।
  • यह राष्ट्रीय स्तर (MoHUA पर), चुनिंदा राज्यों (उत्तर प्रदेश, केरल और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह) और कानपुर, कोच्चि और पोर्ट ब्लेयर शहरों में किया जाएगा।

You might be interested:

विश्व प्रेस स्वतंत्रता सूचकांक 2021

विश्व प्रेस स्वतंत्रता सूचकांक 2021 प्रसंग हाल ही में जारी किए गए विश्व प्रेस ...

3 हफ्ते पहले

'लोक सेवा दिवस'

'लोक सेवा दिवस' प्रसंग भारत में, 'लोक सेवा दिवस' प्रत्येक वर्ष 21 अप्रैल को मनाय ...

3 हफ्ते पहले

स्टेफानोस सितसिपास ने 2021 मोंटे कार्लो मास्टर्स जीता

स्टेफानोस सितसिपास ने 2021 मोंटे कार्लो मास्टर्स जीता प्रसंग स्टेफानोस सितसि ...

3 हफ्ते पहले

विश्व रचनात्मकता और नवाचार दिवस

विश्व रचनात्मकता और नवाचार दिवस प्रसंग प्रति वर्ष, 21 अप्रैल को विश्व रचनात् ...

3 हफ्ते पहले

'द स्टेट ऑफ द ग्लोबल क्लाइमेट 2020' रिपोर्ट जारी की गई

'द स्टेट ऑफ द ग्लोबल क्लाइमेट 2020' रिपोर्ट जारी की गई प्रसंग हाल ही में, विश्व मौ ...

3 हफ्ते पहले

दैनिक समाचार डाइजेस्ट:20 April 2021

इटली ने गुजरात में पहले मेगा फूड पार्क की शुरुआत कीइटली ने भारत के गुजरात रा ...

4 हफ्ते पहले

Provide your feedback on this article: