Bookmark Bookmark

समाचारों में स्थान

सैंड ड्यून पार्क

भारत का पहला सैंड ड्यून पार्क घर गोवा में विकसित किया जायेगा, विश्व बैंक ने इस कार्यक्रम के तहत लगभग 3 करोड़ रुपये की राशि की मंजूरी दी हैं, गोवा राज्य जैव विविधता बोर्ड ने इस परियोजना का प्रस्ताव दिया है, जिसे विश्व बैंक द्वारा वित्तीय सहायता के साथ लागू किया जाएगा।

इस योजना के प्रयासों के तहत, बालू की वनस्पतियों के ख़त्म होने की सम्भावना को कम करने के लिए पर्यावरण के अनुकूल सामग्रियों का उपयोग करके पुलों का निर्माण किया जायेगा। कई इंटरप्रिटेशन और विषयगत केंद्र आगंतुकों को सैंड ड्यून पारिस्थितिकी प्रणालियों के महत्व और उनके संरक्षण की आवश्यकता के बारे में शिक्षित करेंगे। इस योजना में सैंड ड्यून वनस्पति की नर्सरियों की स्थापना भी शामिल है, जो समुद्र तट पर इसकी रिप्लांटेशन की अनुमति देगा, जहाँ से वनस्पतियां पूरी तरह से मिट गयी है।

सैंड ड्यून (बालू का टीला) के बारे में:-

सैंड ड्यून एक लैंडफॉर्म है, और ये हवा में उड़ती रेत के समुद्र तट की घास या अन्य स्थिर वस्तुओं में फंस कर एकत्र होने से बनते हैं। टिब्बा मस्र्स्थली वातावरण में जैसे कि सहारा, और समुद्र तटों के पास भी सबसे आम हैं।

You might be interested:

सरकार यूएपीए के तहत 18 और व्यक्तियों को नामित आतंकवादी घोषित करती है

सरकार यूएपीए के तहत 18 और व्यक्तियों को नामित आतंकवादी घोषित करती है प्रसंग व ...

एक महीने पहले

चंद्रमा की सूरज की सतह पर पानी की उपस्थिति की पुष्टि

चंद्रमा की सूरज की सतह पर पानी की उपस्थिति की पुष्टि प्रसंग:- इन्फ्रारेड एस् ...

एक महीने पहले

डाक विभाग ने संयुक्त राष्ट्र संगठन की 75 वीं वर्षगांठ पर स्मारक डाक टिकट जारी किया

डाक विभाग ने संयुक्त राष्ट्र संगठन की 75 वीं वर्षगांठ पर स्मारक डाक टिकट जारी ...

एक महीने पहले

उत्तरी कमान ने 74 वां पैदल सेना दिवस मनाया

उत्तरी कमान ने 74 वां पैदल सेना दिवस मनाया प्रसंग उत्तरी कमान द्वारा 74 वां पैद ...

एक महीने पहले

दैनिक समाचार डाइजेस्ट:26 October 2020

भारत को 35 वर्षों के बाद अंतर्राष्ट्रीय श्रम संगठन के शासी निकाय की अध्यक्षत ...

एक महीने पहले

वन लाइनर्स ऑफ द डे, 27 अक्टूबर 2020

महत्वपूर्ण दिन वर्ष 2020 के विश्व दृश्य-श्रव्य विरासत दिवस (27 अक्टूबर) का विषय &nd ...

एक महीने पहले

Provide your feedback on this article: