Bookmark Bookmark

संयुक्त राष्ट्र दिवस: 24 अक्टूबर

संयुक्त राष्ट्र दिवस: 24 अक्टूबर

संयुक्त राष्ट्र दिवस विश्व प्रतिवर्ष 24 अक्टूबर को लोगों को संयुक्त राष्ट्र संस्थान के उद्देश्यों एवं उपलब्धियों की जानकारी देने हेतु मनाया जाता है। संयुक्त राष्ट्र दिवस संयुक्त राष्ट्र सप्ताहिक कार्यक्रमों की श्रंखला में 20 से 26 अक्टूबर के मध्य मनाया जाता है।

उल्लेखनीय है कि संयुक्त राष्ट्र संघ की स्थापना 24 अक्टूबर, 1945 को संयुक्त राष्ट्र चार्टर पर 50 देशों के हस्ताक्षर होने के साथ की गयी। ज्ञातव्य है कि वर्ष 1948 से प्रतिवर्ष 24 अक्टूबर को यह दिवस मनाया जाता है।

वर्ष 1971 को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने यह संकल्प आगे बढ़ाते हुए (संयुक्त राष्ट्र संकल्प संख्या 2782) यह निर्णय लिया कि संयुक्त राष्ट्र दिवस को अंतर्राष्ट्रीय अवकाश दिवस के रुप में घोषित किया जाए और यह भी देखा जाए कि यह उन सभी देशों में जोकि संयुक्त राष्ट्र के सदस्य हैं, सार्वजनिक अवकाश के रूप में मनाया जाए।

संयुक्त राष्ट्र का कार्यक्षेत्र:

संयुक्त राष्ट्र किन्हीं भी प्रकार की आपदाओं चाहे वह प्राकृतिक या युद्ध की वजह से उत्पन्न हुई हो, हर आपदा के समय ये सहायता गतिविधियों में भाग लेता है।

संस्था उन स्थानों पर जहाँ चिकित्सा सहायता, स्वच्छ पानी, भोजन, और विश्राम हेतु स्थान हेतु सक्रिय रहती है। भारत, संयुक्‍त राष्‍ट्र द्वारा की गई विभिन्‍न पहलों में सबसे आगे रहा है और संयुक्‍त राष्‍ट्र को उसके प्रयासों में हर सम्‍भव सहायता देने के लिए प्रतिबद्ध है।

यह एक अंतरराष्ट्रीय संगठन है, इसका उद्देश्य अंतरराष्ट्रीय कानून को सुविधाजनक बनाने में सहयोग, अन्तर्राष्ट्रीय सुरक्षा, आर्थिक विकास, सामाजिक प्रगति, मानव अधिकार और विश्व शांति के लिए कार्यरत है।

संयुक्त राष्ट्र:

संयुक्त राष्ट्र संघ एक अंतरराष्ट्रीय अंतरसरकारी संगठन के निर्माण का विश्व का दूसरा प्रयास था। राष्ट्र संघ ( लीग ऑफ़ नेशंस) की असफलता ने एक ऐसे नये संगठन की स्थापना के विचार को जन्म दिया जो अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था को अधिक समतापूर्ण व न्यायोचित बनाने में केन्द्रीय भूमिका अदा कर सके।

यह विचार द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान उभरा तथा 5 राष्ट्रमंडल सदस्यों तथा 8 यूरोपीय निर्वासित सरकारों द्वारा 12 जून, 1941 को लंदन में हस्ताक्षरित अंतर-मैत्री उद्घोषणा में पहली बार सार्वजनिक रूप से अभिव्यक्त हुआ। इस उद्घोषणा के अंतर्गत एक स्वतंत्र विश्व के निर्माण हेतु कार्य करने का आह्वान किया गया, जिसमें लोग शांति व सुरक्षा के साथ रह सकें।

इस घोषणा के उपरांत अटलांटिक चार्टर 14 अगस्त, 1941 पर हस्ताक्षर किये गये। इस चार्टर को संयुक्त राष्ट्र के जन्म का सूचक माना जाता है। इस चार्टर पर ब्रिटिश प्रधानमंत्री विंस्टन चर्चिल तथा अमेरिकी राष्ट्रपति फ्रेंकलिन डी. रूजवेल्ट द्वारा अटलांटिक महासागर में मौजूद एक युद्धपोत पर हस्ताक्षर किये गये थे।

लिखित अनुमोदनों की अपेक्षित संख्या अमेरिकी विदेश विभाग में जमा हो जाने के बाद 24 अक्टूबर, 1945 से चार्टर प्रभावी हो गया। 31 दिसंबर, 1945 तक सभी हस्ताक्षरकर्ता देश चार्टर का अनुमोदन कर चुके थे। 24 अक्टूबर को प्रतिवर्ष संयुक्त राष्ट्र दिवस के रूप में मनाया जाता है।

संयुक्त राष्ट्र का मुख्यालय न्यूयार्क में है। संयुक्त राष्ट्र के ध्वज को 1947 में आधिकारिक प्रतीक के रूप में अंगीकृत किया गया ध्वज में हल्के नीले रंग की पृष्ठभूमि के अंतर्गत सफेद रंग से विश्व के वृत्ताकार मानचित्र (जैसाकि उत्तरी ध्रुव से दिखाई देता है) को दर्शाया गया है, जो जैतून की शाखाओं के हार द्वारा घिरा हुआ है। जैतून की शाखाएं शांति का प्रतीक हैं।

Take a quiz on what you read Start Now

You might be interested:

गरीबी के चक्र को तोड़ने के लिए पीढ़ी दर पीढ़ी कार्रवाई करने की आवश्यकता: वर्ल्ड बैंक

गरीबी के चक्र को तोड़ने के लिए पीढ़ी दर पीढ़ी कार्रवाई करने की आवश्यकता: वर्ल्ड बैंक अंतर्राष्ट् ...

4 हफ्ते पहले

SSC JE आवेदन लिंक सक्रिय : SSC जूनियर इंजीनियर पद के लिए आवेदन कैसे करें ?

SSC JE आवेदन लिंक सक्रिय : कर्मचारी चयन आयोग ने आखिरकार वर्ष 2017-18 के लिए SSC जूनियर इंजीनियर की भर्ती ...

4 हफ्ते पहले

Vocab Express (शब्दावली एक्सप्रेस)- 319

Vocab Express (शब्दावली एक्सप्रेस)- 319 प्रिय उम्मीदवार, आपकी शब्दावली को बढ़ाने के लिए यहां 5 नए शब्द ...

4 हफ्ते पहले

इवनिंग न्यूज़ डाइजेस्ट: 23 अक्टूबर 2017

शिंजो आबे के सत्तारूढ़ गठबंधन ने जापान में बहुमत जीता: जापान में तूफान और बारिश के बीच मतदान सं ...

4 हफ्ते पहले

SSC JE अधिसूचना 2017-18 जारी : संपूर्ण जानकारी पढ़ें

SSC JE अधिसूचना 2017-18 जारी : कर्मचारी चयन आयोग ने केन्द्रीय सरकार के विभागों में सिविल, मैकेनिकल, ...

4 हफ्ते पहले

वन लाइनर्स ऑफ़ द डे: 23 अक्टूबर 2017

राष्ट्रीय प्रधानमंत्री मोदी ने इस राज्य में 'रोल ऑन, रोल ऑफ (रो-रो)' नौका सेवा (फेरी सर्विस) के पहल ...

4 हफ्ते पहले

Provide your feedback on this article: