Guest
Welcome, Guest

Login/Register

महत्त्वपूर्ण लिंक

हमसे सम्पर्क करें

Bookmark Bookmark

वैज्ञानिकों ने मकड़ी के जाले के रेशे से बने माइक्रो कैप्सूल विकसित किए

वैज्ञानिकों ने मकड़ी के जाले के रेशे से बने माइक्रो कैप्सूल विकसित किए:

कैंसर के क्षेत्र में शोध कर रहे वैज्ञानिकों ने मकड़ी के जाले के रेशे से बने ऐसे माइक्रो कैप्सूल विकसित किए हैं जो प्रतिरक्षा कोशिकाओं तक सीधे कैंसर वैक्सीन को पहुंचा सकते हैं। वैज्ञानिकों के लिए यह एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है।

कैंसर से लड़ने के लिए शोधकर्ता इस प्रकार की वैक्सीन का इस्तेमाल करते हैं जो रोग प्रतिरोधक प्रणाली को सक्रिय कर सके और ट्यूमर कोशिकाओं की पहचान कर उन्हें नष्ट कर सके। हालांकि प्रतिरक्षा तंत्र से जैसी प्रतिक्रिया की उम्मीद होती है वैसी हमेशा मिल नहीं पाती है।

प्रमुख तथ्य:

कैंसर के उपचार के लिए शोधकर्ता जिस वैक्सीन का इस्तेमाल करते हैं वो इम्यून सिस्टम (प्रतिरक्षा प्रणाली) को सक्रिय करके और ट्यूमर कोशिकाओं की पहचान कर उन्हें नष्ट कर सकती है। लेकिन परिणाम हमेशा अनुकूल नहीं होते।

प्रतिरक्षा प्रणाली, खासकर कैंसर कोशिकाओं की पहचान करने वाली टी-लिम्फोसाइट कोशिकाओं पर वैक्सीन के प्रभाव को बढ़ाने के लिए शोधकर्ताओं ने मकड़ी के जाले के रेशे से निर्मित माइक्रो कैप्सूल बनाए हैं जो प्रतिरक्षा कोशिकाओं के केंद्र तक सीधे वैक्सिन को पहुंचाने में सक्षम हैं।

इस प्रकार के माइक्रो कैप्सूल यूनिवर्सिटी ऑफ फ्रीबर्ग और लुडविक मैक्जिमिलियान यूनिवर्सिटी, म्यूनिख के शोधकर्ताओं ने विकसित किए हैं। शोधकर्ताओं के मुताबिक़ हमारी रोग प्रतिरोधक प्रणाली में दो तरह की कोशिकाएं होती हैं, पहली बी-लिम्फोसाइट जो विभिन्न संक्रमणों से लड़ाई के लिए एंटीबॉडी का उत्पादन करती हैं।

दूसरी कोशिकाएं हैं टी-लिम्फोसाइट। कैंसर के अलावा टीबी जैसे कुछ संक्रामक रोगों के मामलों में टी-लिम्फोसाइट को सक्रिय करने की जरूरत होती है। मकड़ी के जाले के रेशे से बने ये माइक्रो कैप्सूल प्रतिरक्षा कोशिकाओं के केंद्र तक सीधे वैक्सिन को पहुंचाने में सक्षम हैं।

इस शोध के परिणाम पत्रिका 'बायोमैटेरियल्स' में प्रकाशित हुए हैं।

You might be interested:

भारत में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस: पहल और प्रगति

भारत में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस: पहल और प्रगति पिछले कुछ वर्षों से भारत में ...

2 साल पहले

वन लाइनर्स ऑफ़ द डे: 14 जून 2018

राष्ट्रीय केन्द्र सरकार ने इस योजना के तहत सब्सिडी के दायरे वाले सस्ते आवास ...

2 साल पहले

बैंकिंग डाइजेस्ट: 14 जून 2018

राष्ट्रीय केन्द्र सरकार ने इस योजना के तहत सब्सिडी के दायरे वाले सस्ते आवास ...

2 साल पहले

इवनिंग न्यूज़ डाइजेस्ट: 13 जून 2018 (PDF सहित)

केन्द्र ने पीएमएवाई (अर्बन) के तहत सब्सिडी के दायरे वाले सस्ते आवास के लिए का ...

2 साल पहले

Vocab Express (शब्दावली एक्सप्रेस)- 485

Vocab Express (शब्दावली एक्सप्रेस)- 485 प्रिय उम्मीदवार, आपकी शब्दावली को बढ़ाने ...

2 साल पहले

भारत-आसियान नौसेना अभ्यासों में वृद्धि

भारत-आसियान नौसेना अभ्यासों में वृद्धि: भारत बढ़ते सैन्य सहयोग के हिस्से के ...

2 साल पहले

Provide your feedback on this article: