Bookmark Bookmark

विज्ञान और प्रौद्योगिकी में उन्नत अध्ययन संस्थान (आईएएसएसटी) के वैज्ञानिकों ने घावों के लिए हर्बल दवा वाली स्मार्ट बैंडेज विकसित की

विज्ञान और प्रौद्योगिकी में उन्नत अध्ययन संस्थान (आईएएसएसटी) के वैज्ञानिकों ने घावों के लिए हर्बल दवा वाली स्मार्ट बैंडेज विकसित की

भारत सरकार के विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग के अधीनस्वायत्त संस्थान विज्ञान और प्रौद्योगिकी में उन्नत अध्ययन संस्थान (आईएएसएसटी) के वैज्ञानिकों ने एक ऐसी स्मार्ट बैंडेज विकसित की है, जो घाव तक दवा की सही डोज पहुंचाकर उसे ठीक कर सकती है।

प्रमुख बिंदु:

  • यह स्मार्ट बैंडेज घाव में संक्रमण की स्थिति के अनुरुप उसके पीएच स्तर को देखते हुए दवा की डोज जारी करती है।
  • बैंडेज को नैनोटेक्नोलॉजी आधारित सूती पैच से बनाया गया है​, जिसमें कपास और जूट जैसी टिकाऊ और सस्ती सामग्रियों का इस्तेमाल किया गया है।
  • अनुसंधान में, जूट कार्बन डॉट्स के साथ शामिल एक नैनोकॉम्पोजिट हाइड्रोजेल बाध्य कॉम्पैक्ट कपास पैच द्वारा दवा जारी किया गया था।
  • जूट का उपयोग पहली बार फ्लोरोसेंट कार्बन डॉट्स को संश्लेषित करने के माध्यम के रूप में किया गया है, जबकि पानी का उपयोग फैलाव माध्यम के रूप में किया गया है।
  • बैंडेज में इस्तेमाल हर्बल दवा में मूल रूप से अजादिराचिता इंडिका अर्थात नीम के सत का उपयोग किया गया है।
  • जूट और नीम जैसे प्राकृतिक उत्पादों के अर्क को दवा के रूप में बैंडेज के जरिए घाव पर रिलीज करने की एक सक्षम प्रणाली को दर्शाया गया है। इसके तहत जूट कार्बन डॉट्स को हाइड्रोजेल मैट्रिक्स-बाउंड कॉटन पैच में डुबो कर पीएच स्केल पर 5 के स्तर से नीचे तथा 7 के स्तर से उपर अलग-अलग तरीके से दवा रिलीज होनेकी विधि को दिखाया गया है।
  • इसलिए, ड्रग रिलीज व्यवहार की जांच करने के लिए हाइब्रिड कपास पैच यानी कि स्मार्ट बैंडेज में नैनो-भराव के रूप में विभिन्न कार्बन डॉट्स का उपयोग किया गया है।

You might be interested:

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग (डीएसटी) ने कोविड-19 इंडिया नेशनल सुपरमॉडल की शुरुआत की

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग (डीएसटी) ने  कोविड-19 इंडिया नेशनल सुपरमॉडल ...

एक महीने पहले

इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने भारत का राष्ट्रीय कृत्रिम बुद्धिमत्ता पोर्टल लॉन्च किया है

इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने भारत का राष्ट्रीय कृत्र ...

एक महीने पहले

राष्ट्रीय कैरियर सेवा पोर्टल पर कैरियर कौशल प्रशिक्षण कार्यक्रम की शुरुआत

राष्ट्रीय कैरियर सेवा पोर्टल पर कैरियर कौशल प्रशिक्षण कार्यक्रम की शुरुआत ...

एक महीने पहले

छत्तीसगढ़ में जल जीवन मिशन के कार्यान्वयन के लिए केंद्र द्वारा अनुमोदित 445 करोड़ रुपये

छत्तीसगढ़ में जल जीवन मिशन के कार्यान्वयन के लिए केंद्र द्वारा अनुमोदित 445 क ...

एक महीने पहले

आईएनएस कलिंगा में 2 मेगावाट सौर ऊर्जा संयंत्र का उद्घाटन

आईएनएस कलिंगा में 2 मेगावाट सौर ऊर्जा संयंत्र का उद्घाटन 28 मई, 2020 को विशाखापट् ...

एक महीने पहले

दैनिक समाचार डाइजेस्ट:30 May 2020

अमेरिका चीन का विरोध करने के लिए G7 कृत्रिम बुद्धिमत्ता समूह के साथ सहयोग करत ...

एक महीने पहले

Provide your feedback on this article: